एक ऐसा बैंक, जहां नहीं होता पैसोंं का लेनदेन

बैंक नाम का शब्द कानों में पड़ते ही लगता है क‍ि यहां पैसों के लेनदेन को लेकर बात होने वाली है, लेक‍िन आज नहीं. हम बैंक के बारे में बात तो करेंगे, लेक‍िन एक ऐसा बैंक जो पैसों में लेनदेन नहीं करता. यह बैंक उत्तराखंड के हल्द्वानी में स्थ‍ित है.

इस बैंक में भी लेनदेन होता है. हालांकि यहां होने वाला लेनदेन पैसों का नहीं, बल्क‍ि खुश‍ियों का होता है. यही वजह है क‍ि इसे ‘खुश‍ियों का बैंंक’ नाम द‍िया गया है.

इस बैंक की शुरुआत प्रवीण भट्ट नाम के एक शख्स ने की है. इस बैंक में कोई भी आम व्यक्ति कुछ भी सामान यहां दान कर सकता है. दान सामग्री के तौर पर आप घर में पड़े पुराने कपड़े, जूते, चप्प्ल समेत हर वो चीज दे सकते हैं, जो आपके काम की नहीं है.

आपकी तरफ से दान क‍िए गए कपड़ों का इस्तेमाल वो लोग करते हैं, ज‍िनके पास इन सब चीजों को खरीदने के ल‍िए पैसे नहीं होते. यहां गरीब और आर्थ‍िक रूप से कमजोर लोग आते हैं और अपनी मर्जी से जो सामान चाहिए, वो ले जाते हैं.

इन लोगों के ल‍िए यह बैंक कभी बंद नहीं होता. प्रवीण ने बताया क‍ि उन्होंने इस बैंक की शुरुआत तब ही कर दी थी, जब वह पढ़ाई कर रहे थे.

उन्होंने जानकारी दी क‍ि वह गरीब बच्चों की खातिर भी काम करते हैं. उन्होंने बताया कि उनके खुश‍ियों के बैंक से अब तक 12 हजार से भी ज्यादा जरूरतमंद लोग सेवा ले चुके हैं.

प्रवीण के जज्बे को देखते हुए अन्य लोग भी अब उनके साथ जुड़ने लगे हैं और इस काम में उनकी हर संभव कोश‍िश करने लगे हैं.

अगर कभी आप हल्द्ववानी जाएं, तो खुश‍ियों के बैंक में जाना न भूलें. यहां आप पैसों का लेनदेन तो नहीं कर पाएंगे, लेक‍िन खुश‍ियां बांटकर खुश जरूर हो सकेंगे.

Leave a Reply