भरतु की ब्वारी…

“आज भरतु की ब्वारी कपाल पर मोल थै लगाणी.  कैन पुछ‍ि- क‍िलै छन इना कना.

त् जवाब म‍िली : रेडियो बोल रहा था, सुरक्षित काले मेरे बाल. भैंसमोल ने किया कमाल″

मजाक कने भी हद होन्दी यार
मी एक नौनी दगड छो बेठ्यूं
बड़ी मुश्किल से बात बणाई छे…

यो कमीना दोस्त आई अर ब्वन लगी

न भे ब्याली वाली बिजा स्वाणी छे…

लड़का:- तू Watsapp म छे?
लड़की:- ना ना मे त घार म छू.
लड़का:- रे लाटी म्यार मतलब च.Watsapp use करीद छे तू?
लड़की:- ना ना मे त सिर्फ़ Fair & Lovely लगांद छू.
लड़का:- कन कंडा लगी,आबे म्यार मतलब तू Watsapp चलंद छे?
लड़की:- ना लाटा म्यार बाबा एक साइकल दी मिथे मे त उउ ही चलंद छू.
लड़का:- हे लाटी, म्यार मतलब Watsapp चलान आँद च?
लड़की:- एन करा तू चला ओर मी पिछने बैठ ज्योल.

गढ़वाली कॉल सेंटर :

बोडी मि बोडाफोन बटी बुनू छॉ
बोडी : अरे लाटा तू बोडा कु फोन बटी बुनी छैं अर यख सुबेर बटी तयार बोडा फोन खुजाणू च।

मास्टर जी : हाँ रे मंगतू…!!
त्येरा सिर्फ 5 नंबर छन आयां का अर तू फिर भी हेसण लग्युं च….!! किले रे…!!
.
मंगुतु : मासाब… मी त यी बात सोची छुं हेसणु की यी 5 भी कन म ऐन… 🙂

 

Leave a Reply