अब तोले जाएंगे नेता और आपकी जेब से न‍िकाले जाएंगे 75kg स‍िक्के

उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट दिखने में काफी स्वस्थ-तंदुरुस्त तो हैं, लेक‍िन आप जानते हैं उनका वजन कितना है? नहीं जानते, तो बता दें कि उनका वजन 75 किलोग्राम सिक्कों के बराबर है.

दरअसल उत्तराखंड भाजपा ने फंड जुटाने का एक नया तरीका शुरू किया है और इस तरीके को नाम दिया गया है ‘सहयोग शुल्क.’

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक हल्द्वानी में भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट का वजन किया गया. भाजपा नेताओं का कहना है कि जिन सिक्कों की बदौलत उनका वजन किया गया है, वे हल्द्वानी और राजपुरा में लोगों से जमा किए गए हैं.

उन्होंने बताया कि 75 किलोग्राम के ये सिक्के फिर बैंक में ले जाए गए और उन्हें नोटों में बदलवाया गया. इस मौके पर भाजपा अध्यक्ष ने अपने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि हर कार्यकर्ता को कम से कम 1000 रुपये का सहयोग शुल्क जमा करना चाहिए.

अजय भट्ट जी को जनता से जमा किए गए 75 किलोग्राम सिक्कों से तोल कर भाजपा भले ही खुश हो, लेक‍िन कांग्रेस को यह रास नहीं आया है. उसने इस कदम को लेकर भाजपा की आलोचना की है.

कांग्रेस नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री इंदिरा हृदयेश के बेटे सुमित हृदयेश ने कहा कि किसी व्यक्ति को सिक्कों से या किसी कीमती चीज से तोलना न्यायसंगत नहीं है. हम ऐसी किसी भी गतिविध‍ि का विरोध करते हैं.

सुम‍ित ने कहा कि कांग्रेस कभी ऐसा काम नहीं करेगी. उन्होंने जानकारी दी कि ऐसी रिपोर्ट है कि भाजपा अपने कार्यकर्ताओं पर सहयोग शुल्क जमा करने के लिए दबाव डाल रही है.

उन्होंने कहा कि यह गलत प्रथा लाई जा रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि ये पैसा आम लोगों से नहीं मांगा जा रहा, बल्क‍ि माफियाओं का पैसा खपाया जा रहा है.

कुछ लोग इस सहयोग शुल्क को 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी के तौर पर भी देख रहे हैं. उनका कहना है कि भाजपा अभी से ही 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी में लग गई है. इसीलिए ऐसे कदम उठा रही है.

Leave a Reply