शोपियां फायरिंगः गढ़वाल यूनिट के मेजर के ख‍िलाफ FIR पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

नई द‍िल्ली। जम्मू-कश्मीर के शोंपिया में हुई फायरिंग मामले में 10 गढ़वाल यूनिट के मेजर आदित्य के ख‍िलाफ दर्ज FIR पर कार्रवाई करने से सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है. इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और जम्मू-कश्मीर की सरकार से भी इस मसले पर जवाब मांगा है.

सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला मेजर आदित्य कुमार के पिता लेफ्टिनेंट कर्नल कर्मवीर सिंह की तरफ से दाखि‍ल याचिका पर सुनाया है. अपनी याच‍िका में कर्नल ने कहा था कि इस एफआईआर को खारिज किया जाए.

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय ध्वज के सम्मान की रक्षा के लिए और जान की बाज़ी लगाने वाले भारतीय सेना के जवानों के मनोबल की रक्षा होनी चाहिए.

स्वामी ने केंद्र सरकार पर बोला हमला
दूसरी तरफ, सुप्रीम कोर्ट के कार्रवाई पर रोक लगाने के बाद भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है. राज्यसभा सांसद स्वामी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यह साफ हो चुका है कि मेजर आदित्य के ख‍िलाफ जो मामला दाख‍िल किया गया था, वह पूरी तरह गैर कानूनी था. लेक‍िन मुकदम दर्ज करने को लेकर जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने विधानसभा में कहा था कि उन्होंने इसके बारे में रक्षा मंत्री से बात कर ली है.

केंद्र की मर्जी के ब‍िना केस संभव नहीं
दरअसल कश्मीर में आर्म्ड फोर्सेज स्पेशल पावर एक्ट लागू है. ऐसे में यहां पर राज्य सरकार तब तक सेना के ख‍िलाफ कोई मामला दर्ज नहीं कर सकती है, जब तक इसके लिए केंद्र सरकार सहमति न दे.

स्वामी ने कहा कि जब यह मामला प्रकाश में आया था, तब ही उन्होंने यह बात सामने ला दी थी. लेक‍िन रक्षा मंत्री ने कोई जवाब नहीं दिया. इसलिए अब उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए.

मेजर आदित्य ने नहीं क‍िया कोई  अपराध
सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि मेजर आदित्य ने कोई निजी अपराध नहीं किया है. उन्होंने भीड़ पर गोली मजबूरी में चलाई है. उन्होंने ऐसा सिर्फ अपना बचाव करने और अपनी ड्यूटी निभाने के खा‍त‍िर किया है. इसलिए उनके ख‍िलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया जाना चाहिए था.

पाकिस्तान में बंटी थी म‍िठाई
स्वामी ने दावा क‍िया कि जब मेजर आदित्य के ख‍िलाफ एफआईआर हुई, तो पाकिस्तान में मिठाई बांटी गई. इस खबर की फोटो स्टेट करवाकर लोगों के बीच बांटा गया. उन्होंने कहा कि इस घटना से दुनियाभर में भारत की बदनामी हुई है.

क्या है पूरा मामला
27 जनवरी को जम्मू-कश्मीर के शोपियां में पत्थरबाजों पर सेना ने फायरिंग की थी. इस फायरिंग के दौरान दो पत्थारबाजों की मौत हो गई थी. इसको लेकर यहां काफी विरोध प्रदर्शन भी हो रहा है.

इस मामले में 10 गढ़वाल यून‍िट के मेजर आदित्य और अन्य सैनिकों के ख‍िलाफ केस दर्ज किया गया है. यह एफआईआर राज्य सरकार ने करवाई थी. इस मामले के सामने आने के बाद इसका देशभर में विरोध शुरू हो गया.

Leave a Reply