गढ़वाली भाषा में कुछ ऐसे पुकारते हैं ऋतुओं का नाम…

उत्तराखंड में तीन समृद्ध भाषाएं बोली जाती हैं. इसमें कुमाऊंनी, गढ़वाली और जौनसारी शामिल है. इन तीन भाषाओं की कई उपबोलियां भी उत्तराखंड में बोली जाती हैं.  यह सेक्शन आपको इन भाषाओं को सीखने और बोलने में सहयोग करने की हमारी एक कोश‍िश है.

गढ़वाली में ऋतुओं के नाम

बसंत – मौल्यार
ग्रीष्म – रूड़ी / करषा
बारिश – चौमास (बरखा)
शरद – क्वठार-भंडार
शिशिर – ह्यूंद
हेमंत – झाड़पात

देखें वी‍डियो

Leave a Reply