बुरांस के बारे में वो 7 बातें, जो आप कम ही जानते होंगे…

डांड्यो फूलण लैगी बुरांस… जी हां. उत्तराखंड के जंगलों में बुरांस ख‍िलना शुरू हो गया है. मार्च महीने की शुरुआत में यह फूल खि‍लना शुरू हो जाता है. हर उत्तराखंडी के जीवन का यह फूल एक अहम हिस्सा है. आगे जानिए इसके बारे में 7 बातें, जो आपको शायद पता न हो.

buransh.jpg1

बुरांस उत्तराखंड का राज्य फूल है. इसकी 5 प्रजातियां पाई जाती हैं. वैसे तो ज्यादातर बुरांस लाल रंग का होता है, लेकिन यह सफेद, ,गुलाबी, पीला और नीले रंग का भी ख‍िलता

 

burnash453

आप ने अभी तक जितने भी फूल देखे होंगे, तो उनमें सुगंध और दुर्गंध होती है, लेकिन बुरासं के फूल में सुगंध नहीं होती.

burnash4u5943

बुरांस का जूस ही नहीं, बल्क‍ि चटनी भी बनाई जाती है. बच्चे हर दिन स्कूल से घर आते वक्त बुरांस के फूल तोड़कर लाते हैं और फिर चटनी बनाते हैं. खाकर देख‍िएगा… मजा आ जाएगा.

buransh

उत्तराखंड के लोकगीतों में बुरांस का जिक्र सबसे ज्यादा आता है. याद से लेकर खूबसूरती का बखान करने के लिए इस फूल का नाम लेकर उपमा दी जाती है.

buransh456

बुरांस के फूल की सबसे प्रचलित प्रजाति है रोडोडैंड्रोन आरबोरियम. यह प्रजाति 5 से 8 हजार फुट की ऊंचाई पर तैयार होती है. यह लाल बुरांस होता है.

buransh.jpg23

पहाड़ जा रहे हैं, तो बुरांस की चटनी खाना मत भूलिएगा और हां…. फोटो तो जरूर ख‍िंचवाइएगा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.