थम नहीं रही उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग, रेड अलर्ट जारी

उत्तराखंड के जंगलों में पिछले कुछ दिनों से लगी आग थमने का नाम नहीं ले रही है. इसकी वजह से न सिर्फ जंगली जानवरों की जानें जा रही हैं, बल्क‍ि यहां रह रहे लोगों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

मौजूदा समय में आग पौड़ी गढ़वाल समेत ट‍िहरी के जंगलों में भी धधक गई है. इससे काफी ज्यादा वन संपदा का नुकसान हो रहा है. राज्य सरकार ने इसको लेकर अब रेड अलर्ट जारी कर दिया है.

उत्तराखंड के जंगलों में लगी यह आग अब धीरे-धीरे ह‍िमाचल प्रदेश और जम्मू और कश्मीर की सरहदों पर भी पहुंच गई है. इस आग का असर वैष्णो देवी की यात्रा पर भी द‍िखा है. आग पर काबू पाने के लिए उत्तराखंड सरकार ने कोश‍िशें तेज कर दी हैं. उसने इसको लेकर एक एडवाइजरी जारी की है.

aag1

उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग… थमने का नाम नहीं ले रही

इसमें कहा गया है कि आग पर काबू पाने के लिए ज्यादा से ज्यादा संसाधनों का इस्तेमाल किया जा रहा है. सरकार ने आम लोगों को भी आग से बचने ह‍िदायत दी है. एसडीआरएफ की टीमें लगातार आग बुझाने के काम में जुटी हुई हैं.

यह पहली बार नहीं है, जब उत्तराखंड के जंगलों में आग लगी हो. हर साल गर्मी के दौरान यह हालात पैदा हो जाते हैं. हालांकि इस बार आग ने काफी विकराल रूप धारण कर लिया है. इसकी वजह से यह अब उत्तराखंड के जंगलों से निकलकर दूसरे पहाड़ी राज्यों की तरफ बढ़ने लगी है.aag2

गर्मी के मौसम में कम बारिश की वजह से आग लगने का खतरा सबसे ज्यादा पैदा होता है. दरअसल गर्मी के मौसम में अगर 20 से 25 दिनों के अंतराल में बारिश न हो, तो पेड़ की सूखी पत्त‍ियों के आग पकड़ने का खतरा पैदा हो जाता है. इसके लिए चीड़ के पेड़ों को भी जिम्मेदार माना जाता है. इनकी सूखी पत्त‍ियां आग जल्दी पकड़ती हैा और वह पूरे जंगल में फैल जाती हैं.

Leave a Reply