बूढ़ाकेदार: बादल फटा और मलबे में दफ्न हो गए एक ही परिवार के 7 लोग

टिहरी गढ़वाल जिले के बूढ़ा केदार में एक हृदयविदारक हादसा हुआ है. बुधवार तड़के सुबह बादल फटने से आए मलबे में यहां एक ही परिवार के 8 लोग मलबे में दब गए. बताया जा रहा है कि इस हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई है. सिर्फ एक बच्ची के बचने की खबर है.

दरअसल उत्तराखंड में पिछले 6 दिनों से लगातार भारी बारिश हो रही है. इसकी वजह से यहां जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. बुधवार की सुबह बूढ़ा केदार के कोट गांव में यह हादसा हुआ. जब यह हादसा हुआ, तो इस परिवार के सभी सदस्य अपने घर में सोए हुए थे.

बादल फटा और पानी का तेज बहाव आने की वजह से भूस्खलन हुआ. इसमें इस परिवार का घर भी बह गया. इस मलबे ने पांच दुकानों को भी नुकसान पहुंचाया है. राहत कार्य में जुटी टीम यहां पर मलबे को हटाने में लगी हुई है.

बताया जा रहा है कि मोर सिंह राणा नाम के शख्स के घर पर यह हादसा हुआ. इस हादसे का श‍िकार उसका पूरा परिवार बना. मुख्यमंत्री त्र‍िवेंद्र सिंह रावत ने इस हादसे पर दुख जताया है.

इस घटना के बाद क्षेत्र के लोगों में डर पैदा हो गया है. आए दिन बादल फटने की घटनाओं ने यहां के लोगों की नींद उड़ा दी है. यह पहली बार नहीं है, जब उत्तराखंड में बादल फटने की घटना हुई हो.

इससे पहले भी कई ऐसे हादसे हो चुके हैं. इससे पहले चमियाला से सटे कुठ्याड़ा गांव में भी ऐसा ही हादसा हुआ था. इस हादसे में किसी की जान तो नहीं गई, लेकिन कई परिवार बेघर हो गए. यहां भी बादल फटने की वजह से हालात बिगड़े.

Leave a Reply