टीम इंडिया की ताकत हैं ये 3 पहाड़ी, खुद कोच ने किया खुलासा

विश्व कप के अब तक के सभी मैचों में टीम इंडिया ने जीत हासिल की है। जिस तरह टीम इंडिया का प्रदर्शन है, उससे तो पूरी उम्मीद है कि आगे भी टीम इंडिया का ये प्रदर्शन जारी रहेगा। इस बीच टीम इंडिया के फिटनेस कोच शंकर बासु ने एक खुलासा किया है। उन्होंने टीम इंडिया के सबसे ताकतवर खिलाड़ियों के बारे में खुलासा किया है। जिनका नाम बासु ने लिया है, वे तीनों ही पहाड़ी हैं। बासु ने इनको सबसे फिट मानने की पीछे एक खास वजह बताई है।

पवन नेगी 
टीम इंडिया के तीसरे सबसे ताकतवर खिलाड़ी हैं. पवन नेगी। शंकर बासु के मुताबिक पवन नेगी के पैरों की मसल काफी मजबूत हैं। पवन नेगी उत्तराखंड की द्वाराहाट तहसील के तुमड़ी गांव के रहने वाले हैं। हालांकि उनका परिवार दिल्ली में रहता है।क्रिकेट में उनकी एंट्री भी यहीं से हुई है। सिर्फ पवन नेगी ही नहीं, बल्कि उनकी बहन बबीता नेगी भी नेशनल क्रिकेट प्लेयर हैं। 

रिषभ पंत
शंकर बासु के मुताबिक ताकत के मामले में दूसरे नंबर पर रिषभ पंत हैं। वर्ल्ड कप में शामिल हुए रिषभ पंत बेहद ताकतवर खिलाड़ी हैं। रिषभ पंत वैसे तो पिथौरागढ़ के पाली गांव से हैं। लेकिन उनका जन्म हरिद्वार में हुआ था। हालांकि क्रिकेट वह दिल्ली की तरफ से खेलते हैं। पंत बल्लेबाजी और विकेटकीपिंग के लिए जाने जाते हैं। इन्हें भारत का गिलक्रीस्ट कहा जाता है।

महेंद्र सिंह धोनी
ताकत के मामले में नंबर वन पर हैं महेंद्र सिंह धोनी। जिस फुर्ती से धोनी पिच पर रन के लिए भागते हैं… उससे सबको ये पता तो चल ही गया होगा कि आखिर वह क्यों सबसे ताकतवर खिलाड़ी हैं। शंकर बासु कहते हैं कि टीम इंडिया के सबसे ताकतवर खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी हैं। उनके मुताबिक धोनी की ताकत का अंदाजा उनकी पैरों की मसल्स को देखकर ही लगाया जा सकता है। बॉलीवुड एक्टर जॉन एब्राहम ने भी धोनी के पैरों की मसल्स को देखकर हैरानी जताई थी। धोनी का जन्म झारखंड के रांची में हुआ था। धोनी का पैतृक गांव अल्मोड़ा जिले के ल्वाली है।

ये खास बात बनाती है इन्हें ताकतवर
शंकर बासु ने टीम इंडिया में इन तीन खिलाडियों के सबसे ताकतवर होने के पीछे एक वजह बताई है। और वो वजह है इनका पहाड़ी होना। भले ही ये प्लेयर उत्तराखंड में ना रहे हों, लेकिन इनके पहाड़ी जीन्स ने इन्हें सबसे ताकतवर खिलाड़ी के तौर पर स्थापित किया है। पहाड़ी के खिलाड़ी हों चाहे आम व्यक्ति। इनमें प्राकृतिक ताकत और सहज इमानदारी नजर आ ही जाती है।

Leave a Reply