10वीं पास एक पहाड़ी जो आज चीन का राजा है

चीन में एक देव फु हैं। देव फु यानि टिहरी गढ़वाल के केमरिया सौड़ गांव के मूल निवासी देव रतुड़ी. देव रतुड़ी को भारत में भले ही ज्यादा लोग न जानते हों, लेकिन वह चीन के प्रतिष्ठित लोगों में से एक हैं। देव चीनी बोलते हैं. चीन की फिल्मों में एक्टिंग करते हैं. चीन में 7 से ज्यादा रेस्टोरंट के मालिक हैं.  अब अपनी जन्मभूमि उत्तराखंड को संवारना चाहते हैं।लेकिन क्या आपको पता है कि आज ये शख्स जो सफलता के हिमालय पर खड़ा दिख रहा है, उसने कितना संघर्ष किया है? क्या आप जानते हैं कि चमियाला इंटर कॉलेज से 10वीं पास करने वाला एक वेटर आज 7 रेस्तरां का मालिक है? देव रतुड़ी चीन के प्रतिष्ठित लोगों की कतार में सबसे आगे खड़ा होता है।

यहां से शुरू हुई कहानी
देव रतुड़ी यानि द्वारिका प्रसाद रतुड़ी। केमरिया सौड़ गांव में जन्म हुआ। घनसाली से सटे चमियाला में स्थित इंटर कॉलेज से 10वीं पास की। साल था 1995। बड़े भाई की तरह अब देव रतुड़ी को भी नौकरी करने परदेश जाना था। देव सिर्फ नौकरी नहीं करना चाहते थे. उनके सपने काफी बड़े थे.

देव रतुड़ी उत्तराखंड में निवेश करना चाहते हैं

देव रतुड़ी उत्तराखंड में निवेश करना चाहते हैं

घर-घर दूध बेचा
1995 में देव दिल्ली आए। यहां एक डेयरी में घर-घर दूध पहुंचाने का काम किया. तनख्वाह थी- 400 रुपये. कुछ वक्त बाद मुंबई चले गए. देव के भाई एक्टर पुनीत इस्सर के ड्राइवर थे. देव खुद एक्टर बनना चाहते थे. उन्हें मौका भी मिला लेकिन कैमरे के सामने खड़े होते ही मुंह से एक भी डायलॉन नहीं निकला. इस तरह फिर देव होटलों में छोटे-मोटे काम करने लगे.

2005 में आया टर्निंग प्वाइंट
देव की जिंदगी में टर्निंग प्वाइंट 2005 में आया. देव 2005 में चीन में वेटर की नौकरी करने के लिए चले गए. 400 रुपये तनख्वाह से शुरुआत करने वाले देव की साल 2009 आते-आते लाखों में कमाई हो गई. साल 2010 में उन्होंने अपना खुद का रेस्तरां खोलने के लिए काम शुरू किया। जेब में पैसे नहीं थे तो अपने पुराने मालिक से पैसे मांगे और 2013 आते-आते देव का पहला रेस्तरां- रेड फोर्ट शुरू हो गया. चीन के शांग्जी प्रांत के शियान शहर में उन्होंने अपना रेस्तरां खोला. इसके बाद देव ने मुड़कर नहीं देखा।

चीन के प्रतिष्ठित लोगों में आता है देव का नाम

देव की सफलता की कहानी
देव ने एक के बाद एक चीन में 7 से ज्यादा रिस्तरां खोल लिए हैं. सिर्फ रेस्तरां नहीं बल्कि उन्होंने यहां योगा सेंटर भी खोला है. जहां न सिर्फ योग सिखाया जाता है, बल्कि भारतीय संस्कृति का प्रचार-प्रसार भी होता है. चीन के कई अखबार, वेबसाइट और न्यूज चैनल देव का इंटरव्यू ले चुके हैं. देव कई प्रतिष्ठित सांस्कृतिक प्रोग्राम में प्रमुख अतिथि की भूमिका निभा रहे हैं.  हाल ही में वह उत्तराखंड आए थे, 500 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव लेकर।

चीनी फिल्मों में पहाड़ी
देव हमेशा से एक्टिंग करना चाहते थे और इनका ये सपना चीन जाकर पूरा हुआ. देव ने यहां बहुत ही कम समय में चीनी भाषा सीख ली. सबसे पहले उन्हें एक छोटे बजट की फिल्म का ऑफर आया. जिसमें उन्हें विलेन का किरदार अदा करना था. देव ने बखूबी वो किरदार निभाया  और आज उन्होंने स्ट्रीट रीबर्थ समेत दर्जन भर फिल्मों में अभिनय किया है। वे फिल्मों में अक्सर विलेन का रोल करते हैं। आने वाले समय में उनकी दो से तीन फिल्में आ रही हैं. यही नहीं, देव फिटनेस फ्रीक भी हैं. कुंग फु भी सीख रहे हैं.देव रतुड़ी

देव का परिवार
देव रतुड़ी का परिवार उनके साथ ही सियान में रहता है। देव की शादी यहीं भारत में ही हुई। उनकी पत्नी का नाम अंजलि रतुड़ी है. अंजलि ऋषिकेश की रहने वाली हैं। देव के दो प्यारे से बच्चे हैं,  आरव और अर्णब, जिन्हें देव एक्टर बनाने का मन बना चुके हैं।

देव रतुड़ी का परिवार

देव रतुड़ी का परिवार

ये है फर्श से अर्श पर पहुंचने की कहानी, लेकिन ये कहना गलत होगा कि ये इसलिए हुआ क्योंकि देव का नसीब अच्छा था. देव ने हर चीज को हासिल करने के लिए संघर्ष किया…मेहनत की। और आज वह चीन में सिर्फ उत्तराखंड ही नहीं, बल्कि भारत का भी झंडा लहरा रहे हैं।    

देखें वीडियो

Leave a Reply