गढ़वई भाषा मां देश-विदेशु का समाचार पढ़ा-सुणा

 

नमस्कार बैजीभुलोंगढ़वई समाचार मा तुम खुणी हम बतौला हर हफ्ता की 10 बड़ी खबर। 5 देशविदेशु बटी और 5 अफड़ा पहाड़ की।

1.
पिछला कुछ समय सी देश मां CAA और NRC का खिलाफ विरोध प्रदर्शन व्हणू चा। ये हफ्ता मां ये विरोध का बीच दिल्ली का जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय यानि JNU मां कुछ नकाबपोशोंन् भीतर घुसिक छात्रों पर हमला करी। चेरा पर नकाब पैरी क् हमला कन वावू का नकाब अब पुलिसन् उतारील्यन।पुलिस का मुताबिक हमलावर कन वावू मां खुद JNU छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष समेत 9 लोगों की पछाण कर्याली। आइशी घोष वी , जु हमला का बाद धरना पर बैठीं च। अब बल देखण होलु कि चोर की दाड़ी मां तिनका जु दिखेगे, सु कति सई च। बते द्यों कि पिछला रविवार यानि 5 जनवरी कु JNU में नकाबपोशोंन हमला करी और छात्रों दगड़ी मारपीट करी। और हां, जरूरी बात। यूं विरोध प्रदर्शनु का बीच नगारिकता संशोधन बिल आज यानि 11 जनवरी से लागू व्हैगी।

2.
दूसरी खबर सीधा अमेरिका बटी। अमेरिकान ईरान कु टॉप कमांडर ड्रोन हमला करी उड़े दिनी। हां भई, सीधा ईरान मां घुसिक। अमेरिका का हमला का बाद ईरान भी बौत तच्युं और वैन भी अमेरिका सी बदला लेण का खातिर ईराक मां अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर मिसाइल छोड़ी। पर ईरानै किस्मत रै खराब और मिसाइल यूक्रेन का एक यात्री विमान पर लगी गे।मिसाइल हमला की वजह सी विमान मा सवार सभी 176 लोग मोरी गेनी। अब बल प्वथलु चुगीगे ढ्वखरु, अब पछतै व्हण क्या। ईरान कु राष्ट्रपति च् वु हसन रुहानी। वुन अफड़ी गलती स्वीकार कैली और बोली कि मानवीय गलती का वजह से यु हादसा वै। पर बैजी, क्वी युं राजनेताओं वुणी समझावा कि लड़ैझगड़ा करिक कैकु भलू नी वै और ना ही वंदू। यकीन नी ओंदू पुछाग्वाणु दिदा सी। जुन ब्याई घुटकी लगैक बैसाखु बैजी दड़ी लड़ै करी और आज कपाअ पर पट्टी बांधिक घोर मां बैठ्यां छां

3.
तुम
ट्विटर पर छां कि नी। नी जल्दी जावा किलै कि ट्विटर पर एक खास आदमी उणी फॉलो कन सी तुम जिती सकदां 60 करोड़। जी हां, मी मजाक नी छों कनु। छन युसाकु मइजावा। जापान कु एक बौत अमीर कारोबारी ची। येन घोषणा करीं कि अफड़ा 1000 ट्विटर फॉलोअर उणी ये 60 करोड़ रुप्या द्याणन। शर्त सिर्फ यथगी चीकि पैसा तौं ही मिलण जोन भाईसाब की 1 जनवरी की पोस्ट रिट्वीट करी वली। अब तुम सोचला कि ये उणी बौअ नी लैगी कखी। भई जवाब यु ची कि हां थोड़ा बौत जरूर बौएगी यू। भाईसाब कु बौलणु कि यूं पैसा बांटीक वु देखण चांदू कि क्या लोगों का जीवन मां ये सी खुशी आंदी की नी।त् ब्वाला बलनेकी और पूछपूछ. तदी मात पैसा देखिक कुछ दिन खुशी आली ही।

4.
त्
बैजी अब बात आपकी थाली की। बल उनी त् प्याज खरीदणु अब मुश्किल वैग्याई। और वक्त यनी एग्याई कि जु आज प्याज खरदणु , तै उणी बिना मांगिक अमीर आदमी कु दर्जा मिलणु च। पर अब तुम्हारी थाई सी मटर भी गायब व्है सकदु। जी हां. हमारी सराकर् दिसंबर मां मटर कु आयात कम कर्याली। कम कन की वजह सी अब आशंका कि मटर कु दाम 100 फीसदी तक बढ़ी सकदु। यानि प्याज का बाद कभी कभार जु तुम मटर खांदा छई, सु कभीकभार भी नी वई पौण्या। चल ब्वन भी क्या। तुम CAA और NRC का विरोध और समर्थन मां बिजी छां और सरकार ग्विंडा पिछाड़ी बटी तुम्हारी थाई उणी हल्की कनी चा।

5.
अब
बात जम्मूकश्मीर की। 370 हटणा का बाद घाटी मां जु हालात बण्या छिन। तौं पर सुप्रीम कोर्ट्न फैसला सुण्याली। 370 हटणा का बाद सी ही घाटी मां इंटरनेट सेवा और अन्य कई सेवा बंद छाई। ये पर सुप्रीम कोर्ट्न बोली कि इंटरनेट इस्तेमाल कनु हर नागरिक कु मौलिक अधिकार च। कोर्टन् सरकार उणी घाटी मां लगीं पाबंद्यों की समीक्षा कनुकु आदेश दियाली भाई। ल्यावा त् देखा बल जरा। यख तुम डेटा पैक खत्म व्हण की चिंता मां डुब्यां छनऔर वख लोग इंटरनेट भी इस्तेमाल नी करी सकणा छिन। क्या ब्वन तब। 

अब बात उत्तराखंड की।

6.
भई
पिछला हफ्ता की सबसी बड़ी खबर याच कि पूरा उत्तराखंड मां द्याण खूब पड़ी। द्याण खूब पड़ी लोगुन व्हाट्सऐप पर भी खूब स्टेटस डायन। द्याणन् ये बार सालों कु रिकॉर्ड तौड्याली। जौनसार में जथा द्याण ये बार पड़ी, तथगा 40 साल पैली पड़ी छाई। गौं मां रण वावा द्याण कु आनंद छई ल्याणा और परदेशु मां रैण वावा गौं वावु कु व्हाट्सऐप स्टेटस देखिक रैन जी मसोसणा। त् बैजी बोलियाली छई पलायन करा दों। पलायन नी व्हंदू मोबाइल पर द्याण देखणा कि नौबत ही किलै आण छै।

7.
उत्तराखंड मां उनी घुमणाक कई जगह छिन। पर अब सरकार जु 13 और टूरिस्ट डेस्टिनेश बणाणी छ। ये खातिर शंघाई कु न्यू डिवेलपमेंट बैंक 1200 करोड़ रुप्या देणु छ। 13 डिस्ट्रिक्ट– 13 डेस्टिनेशन योजना का तहत यु काम व्हण। अब देखण पड़लु कि उत्तराखंड्यों का खातिर या योजना कति फायदेमंद होंदी और क्या या योजना पलायन कुछ कम कन मां मदद करी सकदी कि न।

8.
द्याण पैण सी भला ही हम खुश छां होंणा पर ये सी एक खतरा भी पैदा व्हैगी। दरअसल उत्तराखंड का पाड़ी क्षेत्र में लगातार द्याण पैण सी रीख उणी खाणु नी मिलणु। रीख मतलब भालु, अगर तुम नी जाणदा व्हला जु। खाणा की तलाश मां भालु घाटी वाई जगों पर आणु। मुनस्यारी और धारचुला मां रीख दिखे गैनी। रीख दिख्याण की सबसी बड़ी चिंता या कि ये सी इंसानु दगड़ी रीख कु संघर्ष वै सकदू। जैमा ज्यादातर मनखी कु ही नुकसान व्हंदू।

9.
टिहरी का चंबा का रैण वावा बैज्यों खुशखबरी च। स्वच्छ भारत मिशन का तहत टिहरी गढ़वाल कु चंबा ओडीएफ प्लस प्लस शहर घोषित व्हैगे। चंबा सैर पैली निकाय जु खुला मां शौच मां डबल प्लस हासिल करी। ब्वान कु मतलब यू कि चंबा मां अब क्वी ड्वाखरा फंडु और गदरा दारा नी जांदु लुठ्या लीक. वनी लुठ्या की जरूरत भी क्या बै, गदरा मां पाणी रई ही जांदू। ओडीएफ प्लस प्लस घोषित व्हण कु मतलब कि चंबा मां अब हर घर पर शौचालय च। शौचालय का साथ ही सीवरेज सेफ्टी टैंक सिस्टम भी लग्यूं च। भईउत्तराखंड का और गौं तुम भी सिखा और स्वच्छता की मिसाल बणा भै।

10.
और आखिर मां एक गर्व वाई खबर। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो न् एक रिपोर्ट पब्लिश करी। रिपोर्ट का मुताबिक उत्तराखंड बूढ बुढ्यों का खातिर सबसी सुरक्षित राज्य च। यानि हम अफड़ा बुजर्गों की इज्जत करण जाणदा छां. सिर्फ यू नी, डकैती, लूट और चोरी का मामला सामान वापस बरामद कन का मामला मां भी उत्तराखंड नंबर वन स्थान पर ची भै। त् भायों गर्भ करा और मस्त रा। और उत्तराखंड तैं बढ़ोंदी रा।

गढ़वई समाचार मां आज इथगा ही। तुम उणी हमारी या समूण कन लगी। जरूर बतायां और अफड़ु सुझाव भी जरूर दियां। पसंद आली शेयर भी जरूर कर्यां. हम उणी भी हौसला मिललु।

समाचार पढियाली… अब सुणा भी दौं

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.