अब सब जाएंगे घर? मोदी सरकार की गाइडलाइन को समझें

केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को दूसरे राज्यों में फंसे लोगों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। इन दिशा-निर्देशों के बाद राज्य सरकारों ने भी तैयारी शुरू कर दी है। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश समेत सभी राज्य इसकी तैयारी कर रहे हैं।

उत्तराखंड सरकार ने एक लिंक जारी किया है। जिसके जरिये बाहर फंसे वर्कर और अन्य लोग रजिस्टर कर सकते हैं। और बाद में उन्हें पता चलेगा कि उनकी एप्लिकेशन मंजूर हुई है या नहीं। प्रवासियों को लाने-ले जाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी 4 मई से। 

क्या कहती है केंद्र सरकार की गाइडलाइन?
केंद्र सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइन को अहम बिंदुओं में समझें

  • फंसे हुए लोगों को एक प्रोटोकॉल के तहत ही लाया जाएगा
  • हर राज्य को नोडल अथॉरिटी नियुक्त करनी होगी

  • प्रवासियों को लाने और ले जाने के लिए राज्यों के बीच तालमेल होना जरूरी
  • यात्रा कर रहे सभी लोगों की स्क्रीनिंग होगी। जाने से पहले और पहुंचने के बाद।
  • पहुंचने के बाद आपको कुछ दिन तक होम या इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में रखा जाएगा। 
  • यानि कि कुछ भी लक्षण न दिखें तो घर पर ही क्वारंटाइन किया जाएगा
  • चिकित्सकों की सलाह पर इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन किया जाएगा यानि अस्पताल या क्वारंटाइन सेंटर में रखा जाएगा।
  • स्क्रीनिंग में अगर कोई भी कोरोना वायरस के लक्षण दिखे तो आपको नहीं जाने दिया जाएगा
  • यानि सिर्फ वही लोग जा सकेंगे जिनमें कोरोना वायरस के लक्षण न दिखें
  • प्रवासियों को बसों से सड़क मार्ग के जरिये ही उनकी मंजिल तक पहुंचाया जाएगा।
  • बसों को पूरी तरह सैनेटाइज करना होगा
  • बसों में सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करना होगा
  • आपके मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप हमेशा ऑन रखनी होगी ताकि आपको ट्रेस किया जा सके।

क्या सब जा सकेंगे घर?
जवाब है नहीं। केंद्र सरकार की ये गाइडलाइन सिर्फ उन्हीं लोगों के लिए है जो दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं। इसमें छात्र, प्रवासी मजदूर, यात्री शामिल हैं। इसका मतलब यह है कि अगर आपकी सरकारी नौकरी है और आप चाहते हैं कि आपका परिवार या फिर आप गांव पहुंच जाएं तो ऐसा नहीं होगा।

One comment

  • Sarkar gareebon ke hit ke liye paryatnsheel hai kafi logo ne civid – 19 se ladne ke liye sarkar ki madat ki, gareebi rekha walon ko free ration diya gaya sarkar ne apni taraf se sarahneey kaam kiya par kiya wah madat in logon ko mila jo uske sahi hakdar the yeh kon check karega ,BPL card dharak Bullet 350cc se chadkar sarkaree ration lene aa rahe hai.aur 2 BHK ke makan me rah rahe hai,hamare Uttarakhand me ek chaprasi ko ameer samjha jata hai aur 100 acre ka kheti wala gareeb hai jabki ek sarkari nokar 1 acre jameen apni puri service me nahi khareed pata aur tex dene me pahla number leta hai jabki kheti walon ko tex mukt rakha gaya hai .kabtak yeh sarkar apne aap ko dhokha deti rahegi es samay jiske pas 5 acre se jada bhumi hai usase 5000 rupees / acre basul kare aur un logo ka madat kare jo es aafat kaal me eske sahi hakdar hai..befajul ka dikhawa karke pahle se paresha logo ko aur pareshan nahi Karen dhanyvad ….

Leave a Reply to Raj sahni Cancel reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.