प्रवासियों के लिए उत्तराखंड सरकार की ये योजना वरदान है?

20 साल जेल की सजा काटने के बाद ये जब उत्तराखंड स्थित अपने गांव वापस लौटा तो उसने आजादी के बदले फिर जेल जाना सही समझा। पुष्कर ने अधिकारियों को पत्र लिखे और चेतावनी दी कि अगर उसे जेल में नहीं डाला गया तो वो आत्महत्या कर लेगा। जानते हैं क्यों उसने ऐसा किया? पलायन की वजह से। 

2016 में आई आपदा ने पुष्कर के गांव में काफी तबाही मचाई थी। तब से यहां के लोग पलायन कर गए। पुष्कर का गांव खाली हो चुका था। एक भी इंसान गांव में नहीं था। घर खंडहर बन चुके थे और गांव पर जंगली जानवरों का कब्जा हो चुका था। इसीलिए पुष्कर जेल जाना चाहता था। उत्तराखंड की पलायन की पीड़ा कोई नई नहीं है। लेकिन शायद कोरोना वायरस का ये बुरा दौर, पलायन रोकने में एक बड़ी भूमिका निभाएगा और इसके संकेत भी मिलने शुरू हो गए हैं।

लॉकडाउन से पलायन लॉक होने की उम्मीद

लॉकडाउन से पलायन लॉक होने की उम्मीद

प्रवासी भाइयों सुनना जरा
इस बार जब आप अपने घरदेश जा रहे होंगे, तब बस या ट्रेन से सफर के दौरान एक प्लान तैयार कीजिए। प्लान कभी भी परदेश वापस ना आने का। अब आप सोचेंगे कि ये कैसे होगा? आखिर गांव में रहकर हम क्या खाएंगे-क्या कमाएंगे? तो जवाब ये है कि अब आप अपने घर-गांव रहकर खा भी सकते हैं और कमा भी सकते हैं। इसके लिए जरूरत है तो बस एक प्लान की और सरकार इसमें आपकी मदद करेगी।

आप चाहें तो गांव जाकर एक दुकान खोल लें। छोटा सा ढाबा शुरू कर लें। उत्तराखंड की प्राकृतिक संपदा के बूते कोई कारोबार शुरू करना है तो वो करें। आप जो भी करना चाहते हैं. बेहिचक उसकी तैयारी शुरू करें और सरकार इसमें आपका साथ देगी।

स्वरोजगार पहाड़ में

स्वरोजगार पहाड़ में

त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार का नया प्लान
त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना शुरू की है। इसके तहत आप राज्य में दुकान, डेरी, मछली पालन, व्यूटी पार्लर, पशुपालन, मुर्गी पालन समेत कई काम शुरू कर सकते हैं।

इस योजना के तहत सरकार आपको 35 फीसदी तक सब्सिडी देगी। अगर आप दूरस्थ जिलो में कोई यूनिट लगा रहे है या कारोबार शुरू कर रहे हैं तो आपको 25 फीसदी सब्सिडी मिलेगी। अगर आपके प्रोजेक्ट की लागत 25 लाख है तो 6 लाख की रियायत सरकार देगी। बी श्रेणी के जिलों में 20 फीसदी और मैदानी क्षेत्रों में प्रोजेक्ट शुरू करने के लिए 15 फीसदी सब्सिडी मिलेगी।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना

कैसे मिलेगा फायदा?
फायदा उठाने के लिए आपको सिर्फ एक प्लान तैयार करना है। प्लान को लेकर सरकार के पास जाना है। सरकार की तरफ से स्वीकृति मिलते ही बैंक के पास आवेदन जाएगा। बैंक जैसे ही फाइनेंस करने को तैयार होगा, वैसे ही आपको सब्सिडी मिल जाएगी। यानि कारोबार शुरू करने से पहले ही आपको रियायत मिल जाएगी। इस तरह आप बिना तंगी के अपने कारोबार को बढ़ा सकते हैं।

इस योजना की खासियत ही यही है कि आपको शुरुआत में ही मदद मिल जाएगी। आपको सालों तक सब्सिडी मिलने का इंतजार नहीं करना होगा। 

भले ही चीजें थोड़ी मुश्किल हों। आपकी जेब में पैसे ना हों। लेकिन अगर आपको पास एक पुख्ता प्लान है तो आपको जरूर कोशिश करनी चाहिए। ताकि आप अपनी माटी और घर में न सिर्फ रह सको बल्कि उसे बढ़ावा देने में भी योगदान दे सको। 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.